कुछ क्षेत्रीय दलों की राजनीतिक जमीन खिसकी, वे आंदोलन चला रहे- किशन कपूर

0
233

धर्मशाला (राकेश भारद्वाज): नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन पर कांगड़ा-चंबा के सांसद किशन कपूर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन जो सिर्फ पंजाब-हरियाणा में सबसे ज्यादा सक्रिय है। उसमें ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिन्होंने खेतों का मुंह तक नहीं देखा है। ट्रैक्टर पर एसी लगाकर जा रहे हैं।किशन कपूर ने कहा कि कुछ क्षेत्रीय दल जिनकी राजनीतिक जमीन खिसक रही है, वह अब इस आंदोलन को चला रहे हैं।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि कृषि पर कानून नए नहीं बने बल्कि कांग्रेस ने अपने चुनावों में घोषणापत्र में लिखा था कि इसे लागू करेंगे। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था लोगों को लाभ नहीं मिल रहा। लेकिन आज दिल्ली से चलने वाला पूरा पैसा जनता तक पहुंच रहा है और दलालों को खत्म कर दिया है।

किसानों की आय दोगुना करना मकसद
सांसद ने कहा कि पीएम मोदी ने किसानों की आय दोगुना करने के लिए कृषि विधेयक लाए हैं। इससे APMC के अधिकार विधेयक में बरकरार रहेंगे और अंतरराज्यीय व्यापार को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके साथ ही राज्यों से बाहर अब कोई कर नही लगेगा और वन नेशन, वन मार्केट बनाया है, इसलिए अन्य राज्यों में अपने उत्पाद को बेचने पर टैक्स नहीं लगेगा, जहां मर्जी अपनी फसल बेच सकता है। उन्होंने कहा कि बहुत से किसान इस बिल का समर्थन कर रहे हैं और कुछ एक लोग विरोध कर रहे हैं, जिनमें कांग्रेस और अकाली दल शामिल है।