100 कोरोना मरीज धर्मशाला से टांडा जाने को तैयार, लेकिन वहां व्यवस्था नहीं- जीएस बाली

0
55

धर्मशाला (राकेश भारद्वाज): हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जीएस बाली ने चिंता जताते हुए सरकार की घेराबंदी की है। उन्होंने कहा यह महामारी पूरी दुनिया मे पहली बार आई है और इसके लिए हमें जानकारों या स्वास्थ्य विशेषज्ञों से सलाह लेनी चाहिए। लेकिन आज प्रदेश के हालात सबसे ज्यादा खराब हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को अगले एक महीने को लेकर तैयारी करनी चाहिए कि किस तरह से कार्य किया जाएं ताकि स्थिति को नियंत्रण किया जा सके।

पूर्व मंत्री जीएस बाली ने कांगड़ा में पत्रकार वार्ता में कहा कि आज स्थिति इतनी दयनीय है कि धर्मशाला अस्पताल से टांडा जाने के लिए 100 कोविड मरीज तैयार हैं और टांडा अस्पताल में पहले से 50 मरीजों का इलाज चल रहा है। मगर धर्मशाला के 100 मरीजों को शिफ्ट करने तक की सुविधा सरकार के पास नहीं है। ऐसे में अगर मामले बढ़ते है तो सरकार की क्या योजना है, क्या स्टैंड है, सरकार स्पष्ट करे।

जीएस बाली ने सरकार को आगाह करते हुए कहा कि लोगों को अस्पतालों में सुविधा नहीं मिल रही है, जिसे लेकर सरकार को सुविधाएं प्रदान करनी चाहिए। जो कोरोना मरीज हैं उनके वार्ड में सीसीटीवी कैमरा लगाए और उनकी डिस्प्ले उनके साथ आए परिजनों को दिखाई जाए ताकि परिजनों को भी पता चल जाए कि उनके मरीज का सही इलाज हो रहा है या नहीं। वहीं एमरजेंसी में भी अस्पताल प्रशासन को निगरानी रखनी चाहिए कि वहां आए सभी लोगों का इलाज हो रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि आज जो स्थिति है वो चिंताजनक है और उसे नियंत्रण करना चाहिए।