किसानों ने ठुकराया गृहमंत्री अमित शाह का ऑफर, दिल्ली की घेराबंदी की पूरी तैयारी

0
130

ब्यूरो: नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसानों ने केंद्र सरकार की सशर्त बातचीत का ऑफर ठुकरा दिया है। शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह ने किसानों को पहले धरना स्थल पर पहुंचने और उसके अगले दिन बातचीत के लिए बुलाया था। लेकिन रविवार को किसानों की बैठक में केंद्र सरकार के न्यौते को ठुकरा दिया गया है।

आंदोलनकारी किसानों की अगुवाई कर रहे किसान नेताओं ने साफ कह दिया है कि जब तक सरकार बिना शर्त के बातचीत नहीं करेगी। तब तक उनका यह आंदोलन जारी रहेगा और दिल्ली की सीमाओं पर घेराबंदी शुरू होगी।

बता दें कि दिल्ली की सीमा पर सिंघु बॉर्डर और टीकरी बॉर्डर पर किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार के जरिए बुराड़ी में आने का न्यौता ठुकरा दिया है। किसान नेताओं की माने तो बुराड़ी उनके लिए ओपन जेल जैसी होगी। इसलिए वे बुराड़ी बिल्कुल नहीं जाएंगे।

वहीं किसान नेताओं ने साफ कह दिया है कि उनके मंच पर कोई राजनेता भाषण नहीं देगा और आंदोलन को दलगत राजनीति से ऊपर रखा जाएगा।

फिलहाल केंद्र सरकार ने किसानों को दोबारा बातचीत का न्यौता दिया है। इस पर किसान सोमवार को बैठक में फैसला लेंगे और आगामी आंदोलन की रूपरेखा तय करेंगे।