देवभूमि के सपूत अंचित शर्मा ने 23 साल की उम्र में दी प्राणों की आहुति

0
129

ब्यूरो: देवभूमि के एक और वीर सपूत ने देश की सीमा पर अपने प्राण न्यौछावर कर दिए हैं। सिरमौर जिले के राजगढ़ सब-डिविजन के धार पजेरा गांव के नौजवान अंचित शर्मा ने 23 साल की उम्र में शहादत दी है। अरुणाचल प्रदेश में एलएसी पर गश्त के दौरान अंचित शर्मा ने वीरगति हासिल की है।

बेटे की शहादत की सूचना मिलते ही परिवार सदमे में हैं। माता-पिता के इकलौते बेटे अंचित शर्मा ने छोटी उम्र में शहादत का चोला ओड़ा है। 24 अक्टूबर को छुट्टियों से वापस लौटे अंचित ने जल्द घर आने का वादा किया था। लेकिन उनकी शहादत की खबर मिलने के बाद हर कोई गमजदा है।

भारतीय सेना के जांबाज अंचित शर्मा की शहादत पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और शोकग्रस्त परिवार को इस असहनीय दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने हेतु प्रार्थना की है।