-40 डिग्री तापमान में भी महफूज रहेंगे हिंद के शूरवीर, ‘स्मार्ट कैंप’ से दूर भागेगी ठंड

0
115

ब्यूरो: पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच तनाव को कम करने की आठवें दौर की सैन्य स्तर की वार्ता परवान चढ़ने के बाद अब मार्च-अप्रैल जैसी यथास्थिति बनाए रखने पर सहमति बनी है। हालांकि अभी भी चीन पर आंखें मूंद कर भरोसा करना खतरे से खाली नहीं है, इसलिए भारतीय सेना ने माइनस 40 डिग्री तापमान में भी जवानों को सुरक्षित रखने के लिए ख़ास इंतजाम कर लिए हैं।

मौजूदा वक्त में लद्दाख में तैनात जवानों के लिए न सिर्फ आधुनिक घर तैयार किए गए हैं बल्कि उन्हें सर्द मौसम में किसी भी परिस्थिति से बचाने में पूरी तरह से सुविधाओं से लैस किया गया हैं। इन घरों की खासियत ये है कि हाड़ कंपाती ठंड में भी इसके अंदर ठहरने वाले जवानों को कोई तकलीफ नहीं होगी बल्कि वातानुकूलित कमरों में आराम से रह सकेंगे।

यह भी पढ़ें   नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों को डराने और भ्रमित करने की कोशिश- PM मोदी

नई हाइसिंग सुविधा भारतीय सेना के लिए एक सुरक्षा कवच साबित होगा क्योंकि अभी भी एलएसी पर दोनों तरफ से सैनिकों का जमावड़ा लगा हुआ है। अभी भी हमारे करीब 50 हजार जवान चीनी सैनिकों से किसी भी परिस्थिति में लोहा लेने के लिए तैयार बैठे हैं। ऐसे में अग्रिम पंक्तियों में तैनात जवानों को हीटेड टेंट की सुविधा दी जाती है ताकि आगामी तैनाती के दौरान वे पूरी तरह फिट रहें।

फिलहाल सात महीने से जारी तनाव के बीच सर्द मौसम ने भारत-चीन के सैनिकों के लिए मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मगर भारतीय सेना की तैयारियां और बेहतर प्रबंध से सैनिकों को किसी तरह की परेशानी नहीं झेलनी पड़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here