दिवाली से पहले मोदी सरकार की एक और बड़ी सौगात, तीसरे राहत पैकेज का किया ऐलान

0
85

ब्यूरो: लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था में आई भारी गिरावट में नई ऊर्जा का संचार करने के लिए केंद्र सरकार ने तीसरी बार राहत पैकेज का ऐलान किया है। गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत राहत पैकेज की घोषणा की है। उन्होंने कुल 2,65,080 करोड़ रुपए की घोषणाएं की गईं। इसके साथ ही कुल राहत पैकेज 29.87 लाख करोड़ रुपए का हो गया है।

जानिए क्या घोषणाएं की गई और इसका कितना असर?

किसानों को उर्वरक सब्सिडी देने के लिए 65 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

कोविड वैक्सीन के शोध के लिए कोविड सुरक्षा मिशन के तहत डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी को 900 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे। ताकि वैक्सीन पर शोध किया जा सके।

यह भी पढ़ें   किसानों ने ठुकराया गृहमंत्री अमित शाह का ऑफर, दिल्ली की घेराबंदी की पूरी तैयारी

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की शुरुआत, जिससे रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

केंद्र सरकार ने इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ECLGS) की अवधि बढ़ा दी है। अब इस योजना का लाभ 31 मार्च 2021 तक मिल सकेगा।

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के लिए 18 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान किया गया है। इससे कुल 30 लाख मकानों को फायदा मिलेगा।

26 दबावग्रस्त क्षेत्रों की पहचान हुई है, जिसमें इसमें स्वास्थ्य क्षेत्र भी शामिल है। इन क्षेत्रों के लिए ईसीएलजीएस स्कीम 2.0 शुरू की जा रही है। एमएसएमई सेक्टर को भी इसका फायदा मिलेगा और मूलधन चुकाने के लिए पांच साल का समय दिया जाएगा।

निर्माण और बुनियादी ढांचा सेक्टर की कंपनियों को अब कॉन्ट्रैक्ट के लिए परफॉर्मेंस सिक्योरिटी के तौर पर पांच से 10 प्रतिशत की जगह अब सिर्फ तीन प्रतिशत की रकम रखनी होगी। यह राहत 31 दिसंबर, 2021 तक जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें   राहत: GDP अनुमान से काफी बेहतर, दूसरी तिमाही में अर्थव्यवस्था में 7.5% की गिरावट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here