क्या है जीरो डेप कार इंश्योरेंस, जानिए इसके फायदे

0
70

ऑटो डेस्क: नए वाहन को खरीदनें के समय इंश्योरेंस कंपनी द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। जो कम से कम एक साल के लिए मान्य होता है, जिसके बाद वाहन मालिक को खुद से अपनी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बीमा रिन्यू कराना पड़ता है। बता दें कार के साथ हादसा होने की स्थिति में मोटर इंश्योरेंस काम आता है। इसके जरिए बड़े नुकसान की भरपाई का बोझ बजट नहीं बिगाड़ता है। भारत में गाड़ी खरीदने वाले हर शख्स के लिए वाहन बीमा यानी मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना अनिवार्य है। फिर चाहे आप कार खरीदें या बाइक/स्कूटर या कोई कमर्शियल गाड़ी ,लेकिन अगर आपने जीरो डेप्रिसिएशन कवर भी साथ में एड ऑन करा लिया तो यह ज्यादा फायदा कराता है।

क्या है जीरो डेप्रिसिएशन कवर?

यह भी पढ़ें   HP Cabinet Decision: विधानसभा का शीतकालीन सत्र रद्द करने की सिफारिश, सामाजिक समारोह के लिए लेनी होगी परमिशन

दरअसल, वक्त के साथ हर चीज पुरानी होती जाती है। कार की बात करें तो उसके कलपुर्जे/पार्ट्स घिस जाते हैं। ऐसे में वक्त बीतने के साथ कार की मार्केट वैल्यू घटती जाती है। इसी को डेप्रिसिएशन कहते हैं और यही कारण है कि कार इंश्योरेंस को हर साल रिन्यू कराने पर कार की वैल्यू के साथ—साथ इंश्योरेंस क्लेम की रकम भी घटती जाती है। वहीं अगर आप मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी में जीरो डेप्रिसिएशन कवर नहीं लेते हैं, तो बीमा कंपनी नए पार्ट्स लगाए जाने की स्थिति में पूरा खर्च नहीं उठाती है।

इंश्योरेंस लेते समय इन बातों का रखें ध्यान

जब भी आप मोटर इेश्योरेंस पॉलिसी लें तो ध्यान रखें कि जीरो डेप कवर को बीमा पॉलिसी के साथ एड ऑन कराने पर प्रीमियम 20 प्रतिशत बढ़ जाता है। वहीं जीरो डेप्रिसिएशन कवर नई गाड़ी या ज्यादा से ज्यादा 3 साल पुरानी कार पर ही मिल सकता है। यानी चौथे साल से आपको सामान्य बीमा पॉलिसी ही खरीदनी होगी।

यह भी पढ़ें   IND vs AUS तीसरा वनडे कल, क्लीन स्वीप की तैयारी में ऑस्ट्रेलिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here