रोना भी जरूरी है… जानिए क्या है Crying Therapy?

0
15

हेल्थ टिप्स: रोते-रोते हंसना सीखो, हंसते-हंसते रोना… ये भले ही फिल्मी गाना है। लेकिन इस गाने के मायने हमें जिंदगी को खुलकर जीने की प्रेरणा देते हैं। अगर आप रोते हैं तो ये शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से आपको राहत पहुंचती है और आपका मन शांत रहता है। जब भी आप रोते तो दिमाग की नर्व सिस्टम एक्टिव हो जाता है। इस दौरान जितना अंदर से रोते हैं, उतना ही हल्का महसूस करते हैं।

जापान में हिदेफुमी योशिदा नाम का शख्स टियर टीचर बनकर लोगों को रुलाकर उन्हें तनावमुक्त जिंदगी जीना सीखा रहा है। हिदेफुमी योशिदा की माने तो ‘अगर आप हफ्ते में एक दिन भी रोते हैं तो आप तनावमुक्त जीवन जी सकते हैं। तनाव दूर करने के लिए नींद और हंसने से भी ज्यादा असरदार रोना होता है’।

यह भी पढ़ें   केंद्र सरकार और किसानों के बीच वार्ता शुरू, MSP-APMC एक्ट पर सुलह की कोशिश

जानिए रोना क्यों जरूरी है?
रोने पर आंसुओं में मौजूद लाइसोजाइम फ्लुइड बैक्टीरिया को मारता है। यह तनाव दूर करता है, दर्द कम करता है और आंखों की रोशनी भी बेहतर होती है। रोने से दिल और दिमाग हल्का होता है, जिससे अच्छी नींद आती है।

Note: हमारी सामान्य जानकारी के आधार पर हेल्थ टिप्स दिए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here